सोमवार, 21 जुलाई 2014

Pin It

जागरूकता या फूहड़ता ?

'यूट्यूब ' और शोशल साईट्स पर इस महीने कोई ''किसिंग प्रैंक ' 
विडिओ और 'गर्ल्स आस्क फॉर कॉन्डमस ' नाम के वीडियोज हिट हो रहे है ! 
और इसके जरिये बताया जा रहा है के ये युवाओं में सेक्स और खुलेपन के 
प्रति जागरूकता फैला रहा है ! ....
एक वीडियो में लडकी आते जाते लोगो से पूछ रही है ' कॉन्डम कहा मिलेंगे ?
 कौन सी क्वालिटी का अच्छा रहेगा ? इत्यादि '
और इस सवाल पर लोगो के रिएक्शन्स देखकर कहा जा रहा है के अभी भी पर्याप्त जागरूकता
 नहीं है लोगो में सेक्स और कॉन्डम के इस्तेमाल के प्रति !
ये आखिर साबित क्या करना चाहते है ? क्या देश में इस वक्त सबसे बड़ा मुद्दा सिर्फ कॉन्डम का 
इस्तेमाल कैसे करे ही रह गया है ? इन्हें इतनी सी बात समझ में नहीं आती के 'सेक्स ' जैसी
 चीज किसी को सिखने की जरुरत नहीं होती बल्कि जानते सब है किन्तु उसकी चर्चा यदि 
आप खुले में करे तो यह असभ्यता कहलाएगी ! 
आप परदे के पीछे की निजी चीजो को सार्वजनिक करके पब्लिक का रेस्पोंस देख रही है ? 
यदि इतनी ही शिक्षा एवं जागरूकता की परवाह है तो शुरुवात घर से कीजिये ! 
घरवालो को जागरूक कीजिये पहले ,अपने पिता से जाकर पूछिए 'कौन सा कॉन्डम सही रहेगा '
माँ से पूछिए ''कॉन्डम कहा मिलेगा ''
बेटी बहन भाई को ज्ञान दीजिये '' कॉन्डम कैसे इस्तेमाल करे का ''
पता नहीं क्यों ऐसा लगता है मानो इनके लिए युवाओ की प्राथमिकता 
इस वक्त सिर्फ 'सेक्स ' ही नजर आती है ! 
आप रिएक्शन देखना चाहती है न !!!!! सरेराह किसी भी आते जाते व्यक्ति से 'कॉन्डम कहा मिलेगा ' 
जैसा मूर्खतापूर्ण सवाल पूछकर आप साबित क्या करना चाहती है ? 
ऐसे तो कोई वेश्या भी नहीं पूछती होगी किसी से !
हद है यार मोडर्न होना मात्र 'शरिरित चंचलता ,सेक्स , 
खुलेआम फूहडपन ही रह गया है ''
एक और आए दिन बलात्कार जैसी घृणित घटनाओं में वृद्धि हो रही है और दूसरी 
और इन्हें ' कॉन्डम कहा मिलेंगे ? जैसा सवाल ही अधिक महत्वपूर्ण दिखता है .
इस वीडियो में जब लडकी ने एक बन्दे से कंडोम के बारे में पुछा तो उस बन्दे ने नहले पे दहला मारा
 और उसे कहा 'कंडोम ? एक मिनट रुकिए ' और उसने जेब टटोली और एक पैकेट निकल कर उसके हाथ में ही दे दिया !
 लडकी भी झेंप गयी एक पल को ..लेकिन यही पर विडिओ एडिट हो गया और इस दृश्य को ज्यादा फूटेज नहीं मिली !

7 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया विषय व लेखन , देवेन भाई धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रोत्साहन हेतु धन्यवाद आशीष भाई

      हटाएं
  2. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, विज्ञापनों का निचोड़ - ब्लॉग बुलेटिन , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इस सम्मान एवं प्रोत्साहन हेतु धन्यवाद

      हटाएं
  3. आपका यह प्रयास वास्तव में अत्यंत सराहनीय और सम्माननीय है देवेन भाई !! आपके इस प्रेम, सम्मान और स्नेह को देखकर हृदय पुलकित और भावविभोर हो गया । मैं गदगद हो गया । आपको हार्दिक साधुवाद एवं धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं

सम्पर्क करे ( Contact us )

नाम

ईमेल *

संदेश *